पर्सनल लोन न चुकाने पर क्या होगा? लोन डिफाल्टर लिस्ट What happens if you don't pay a bank loan - ANISHAHIR

Top Ad unit 728 × 90

पर्सनल लोन न चुकाने पर क्या होगा? लोन डिफाल्टर लिस्ट What happens if you don't pay a bank loan

हमने अपनी अपनी पुरानी पोस्टों में लोन के ऊपर काफी सारी बातें की है कि आप पर्सनल लोन कैसे ले सकते हो होम लोन कैसे ले सकते हो या फिर गोल्ड लोन कैसे ले सकते हो आपको लोन लेने के लिए किन-किन डॉक्यूमेंट की जरूरत पड़ती है और लोन लेने की क्या प्रोसेस होती है तो चलिए दोस्तों आज के इस पोस्ट में जानेंगे कि अगर आपने कोई भी लोन लिया है और आप उस लोन को नहीं   चुकाते  हो  या फिर लोन ro पर्सनल  न चुकाने पर क्या होगा?  बैंक क्या कर सकता है अगर  आप  लोन डिफाल्टर लिस्ट मैं आ जाते हो  लोन नहीं चुकाने वालों के क्या अधिकार होते हैं














हम अपनी एक बेहतर जिंदगी बिताने के लिए एक अच्छी जिंदगी जीने के लिए हम सारी सुख सुविधाओं को जुटाते हैं जैसे की आप सभी को पता है कि इन सारी सुख सुविधाओं को जुटा ने के लिए हमें बहुत सारे पैसों की भी जरूरत पड़ती है हम में से बहुत सारे लोगों को किसी को एक नया मकान खरीदना है या एक नया मकान बनाना है या एक नई कार मोटरसाइकिल खरीदनी है या फिर किसी को एजुकेशन के लिए पैसों की आवश्यकता है और हम इस तरह की अपनी जरूरतों को पूरा करने के लिए अक्सर  हम बैंकों के लोन पर आश्रित होते हैं या फिर हम बैंकों से लोन लेते हैं और बैंक भी ग्राहकों के पैसों को दुगने मुनाफा कमाने के लिए जरूरतमंद ग्राहकों को लोन की सुविधा आसानी से प्रोवाइड करता है बस लोन लेने के बाद हमें बैंक की ईएमआई को जमा करना होता है लेकिन बहुत बार लोन लेने के बाद हमारी हालात कुछ इस तरह के हो जाते हैं कि हम बैंकों की ईएमआई भरने में असफल होते हैं क्योंकि दोस्तों वह कहते हैं ना हालात इंसान के हाथ में नहीं होते हालात के हाथ में इंसान होता है इंसान के जिस तरह के हालात होंगे वह इंसान उसी तरह का रवैया अपनाता है यह एक प्रकृति का नियम है ऐसे में बैंक का कर्ज चुकाना बहुत मुश्किल हो जाता है। ऐसे में ये जान लेना बेहतर होगा कि बैंक का लोन न चुकाने की स्थिति में क्या होता है। तो चलिए, आज इसी बारे में बात करते हैं-

दोस्तों बैंक से लिए जाने वाले लोन 2 तरह के होते हैं- (1) सिक्योर्ड लोन और (2)अनसिक्योर्ड लोन

1)सिक्योर्ड लोन ---तो चलिए सबसे पहले हम लोग जानेंगे कि यहां पर सिक्योर्ड लोन कौन कौन से होते हैं सिक्योर्ड लोन में होम लोन, गोल्ड लोन, ऑटो लोन, म्यूचुअल फंड लोन और मॉर्गेज लोन आते हैं

(2)अनसिक्योर्ड लोन ---- दोस्तों अनसिक्योर्ड लोन के तहत  पर्सनल लोन और एजुकेशन लोन आते हैं।

इन दोनों लोन की क्या विशेषताएं हैं चलिए इसके बारे में मैं आप लोगों को बताता हूं 

1)सिक्योर्ड लोन दोस्तों इन सारे लोन को लेने के लिए आपको बैंक के पास अपनी कुछ प्रॉपर्टी गिरवी रखनी पड़ती है अगर आप एक सरकारी अधिकारी या कर्मचारी हो तो आपकी जॉब के दौरान जो आपका PF काटा जाता है जब आप बैंक का लोन नहीं चुकाते हो तो बैंक उसी आपके PF से आपके लिए गए कर्ज की भरपाई करता है अगर आपने कोई अपनी प्रॉपर्टी कोई चीज गिरवी रखी है तो उसको नीलाम करके बैंक अपने कर्ज की भरपाई करता है





(2)अनसिक्योर्ड लोन  अनसिक्योर्ड  लोन में आपको बैंक के पास अपनी कोई भी प्रॉपर्टी गिरवी नहीं रखनी पड़ती लेकिन आपको लोन की राशि  बहुत कम मिलती है जबकि सिक्योर्ड लोन में आपकी लोन की राशि बहुत अधिक मिलती है जितनी  महंगी आप प्रॉपर्टी बैंक के पास गिरवी रखते हो उस प्रॉपर्टी की कीमत के तहत 75%  आपको लोन की राशि दे दी जाती है

 उदाहरण के लिए अगर आप की प्रॉपर्टी ₹100000 की है तो आपको ₹75000 लोन राशि मिल जाएगी







तो चलिए आप जानते हैं  लोन चुकाने में देरी करने पर क्या होता है …...  आरबीआई (भारतीय रिजर्व बैंक) के अनुसार, लगातार 90 दिनों तक लोन की ईएमआई या कोई भी राशि जमा नहीं कराई जाए तो इसे नॉन परफार्मिंग एसेट्स (NPA) मान लिया जाता है। ऐसा होने पर बैंक द्वारा अकाउंट होल्डर को एक नोटिस भेजा जाता है जिसमें लोन की कुल राशि का भुगतान एक बार में करने के लिए कहा जाता है। अकाउंट होल्डर द्वारा ऐसा नहीं किये जाने की सूरत में बैंक कानूनी कार्यवाही की धमकी भी दे सकता है।


चलिए अब आप लोगों को मैं बताता हूं  लोन न चुकाने पर क्या होता है – लोन न चुकाने की स्थिति उत्पन्न होने पर बैंक सबसे पहले आपको एक सिंपल सा नोटिस भेजता है पर यह नोटिस मिलने के बाद ठीक इस नोटिस के 2 महीने बाद आपको एक और दूसरा नोटिस मिलता है इस नोटिस में आपके द्वारा जो भी प्रॉपर्टी गिरवी रखी गई है उस प्रॉपर्टी की कितनी कीमत है उस प्रॉपर्टी की नीलामी की तारीख क्या है उस प्रॉपर्टी को किसको बेचा जा रहा है इस तरह की आपको कुछ इंफॉर्मेशन उस नोटिस के जरिए दी जाती है और आपको यह सुनिश्चित करवाया जाता है कि बैंक आपकी प्रॉपर्टी को इस तारीख को नीलाम कर कर अपने कर्ज की वसूली करने जा रहा है



आमतौर पर इस तरह की कार्यवाही आपको जब दूसरा नोटिस मिल जाता है उसके ठीक 1 महीने बाद बैंक इस तरह की कार्यवाही करता है आमतौर पर होम लोन के ज़्यादातर मामले NPA से जुड़े हुए नहीं होते हैं इसलिए बैंक तुरंत कार्यवाही करने की बजाए लगातार दबाव बनाये रखते हैं और इसके बाद भी अगर अकाउंट होल्डर कोई प्रतिक्रिया नहीं देता है तो बैंक कानूनी कार्यवाही की ओर रुख करते हैं।




चलिए मैं अब आप लोगों को बता   दूं बैंक क्या कर सकते हैं


अगर आपने बैंक से कोई भी लोन लिया है और वह लोन सिक्योर्ड लोनके अंतर्गत है तो बैंक आपकी प्रॉपर्टी जो भी आपने गिरवी रखी है उसको जप्त करके नीलाम कर सकता है लेकिन बैंक आपकी प्रॉपर्टी को जप्त करके लिलाव करने से पहले दूसरे जितने भी विकल्प होते हैं उन पर वह जोड़ देता है जब आपने लोन लिया था तब आपके बीच में गैरंटी कौन था गैर इंटर के ऊपर भी यहां पर बैंक जोड़ देता है लोन रिकवरी के लिए







चलिए अब मैं आप लोगों को बता दूं संपत्ति की नीलामी के बाद क्या होता है


बैंक के पास लोन लेने पर और बैंक के ग्राहक जब लोन नहीं चुकाता है तब बैंक ग्राहक के प्रॉपर्टी को नीलाम कर कर अपने चुकाए गए धनराशि को वसूल करने की कोशिश करता है अगर आप की प्रॉपर्टी की धनराशि नीलामी के बाद आप अके ली गई धनराशि से अधिक होती है तो बचे हुए पैसों को बैंक अपने ग्राहक के अकाउंट में जमा कर देता है अगर आप की प्रॉपर्टी की कुल राशी आपके द्वारा लिए गए लोन की कुल राशी से कम होती है तो आपको बाकी की राशि बैंक को चुकानी पड़ती है जब ऐसी स्थिति उत्पन्न होती है तो आपके पास यहां पर एक ऑप्शन यह होता है कि आप अपनी प्रॉपर्टी के लिए खुद कोई कस्टमर ढूंढ ले जो कि आप की प्रॉपर्टी की अच्छी रकम आपको देख सकें दूसरी तरफ अगर आपको बैंक से यह शिकायत है कि आप की गिरवी रखी की प्रॉपर्टी की धनराशि कम आती गई है तो आप इसके लिए बैंक का विरोध कर सकते हो



अगर दोस्तों आप लोगों ने अनसिक्योर्ड लोन लिया है और आप इस लोन की किस्तों को नहीं छुपाते हो तो बैंक क्या कर सकता है क्योंकि इस लोन के अंतर्गत  आपको अपनी कोई भी प्रॉपर्टी बैंक के पास गिरवी नहीं रखनी पड़ती है तो दोस्तों जब आप अनसिक्योर्ड लोन को डिफ़ॉल्ट करते हो यह किस्त नहीं भरते हो आप के खिलाफ  बैंक सिविल कंप्लेंट कर देगा पर इस कंप्लेंट के तहत आप फिर पूरी जिंदगी किसी भी बैंक से कभी लोन नहीं ले पाओ
 

दोस्तों, बैंक हमारी सुविधाओं को पूरा करने के लिए ही लोन जैसी सुविधा उपलब्ध कराते है और समय पूरा होने पर लोन का पूरा पैसा वापिस लेना बैंक की कार्यप्रणाली का अंग है और अब आप जान चुके हैं कि बैंक का लोन न चुकाने की स्थिति में क्या होता है इसलिए हर तरह से निश्चिन्त होकर ही लोन लेने की दिशा में कदम बढ़ाएं और सही समय पर बैंक का लोन चुकाएं ताकि आपको किसी भी तरह की तकलीफ का सामना ना करना पड़े। 
पर्सनल लोन न चुकाने पर क्या होगा? लोन डिफाल्टर लिस्ट What happens if you don't pay a bank loan Reviewed by Rule Breaker on August 04, 2018 Rating: 5

No comments:

आप का कोई सुझाव परामर्श देने के लिए
या आप को लिखे गये पोस्ट के मुताबित मदत और सहयेता के लिए
आप कमेंट लिख सकते हो

All Rights Reserved by ANISHAHIR © 2014 - 2018
Powered by Blogger, Designed by Ahir group's

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.